Wednesday, October 27, 2021
Uncategorized

बांदा-जिला अस्पताल की स्वास्थ्य सेवा पटरी से उतरी

[responsivevoice_button voice="Hindi Female]

जिला अस्पताल की स्वास्थ्य सेवा पटरी से उतरी
– डिजिटल एक्सरे मशीन एक माह से खराब
बांदा। जिला अस्पताल की स्वास्थ्य सेवा पटरी से उतर गई है। कहीं पैथालाजी तो कहीं एक्सरे मशीन खराब है। मरीजों को बेहतर सुविधा नहीं मिल पा रही। जिला अस्पताल की डिजिटल एक्सरे मशीन और पोर्टेबल मशीन करीब एक महीने से खराब पड़ी हुई है। टेक्नीशियन ने कई बार सीएमएस को पत्र लिखकर अवगत कराया, लेकिन इस पर कोई कार्रवाई नहीं की गई। अस्पताल के जिम्मेदार इस ओर कोई ध्यान नहीं दे रहे हैं। मजबूर होकर मरीजों को प्राइवेट एक्सरे करवाना पड़ रहा है। वहां एक्सरे संचालक मरीजों का आर्थिक शोषण करते हैं। जिला अस्पताल में अव्यवस्थाएं हावी हैं। इन अव्यवस्थाओं को सुधारने वाला कोई नहीं है। जिम्मेदार इस ओर कोई ध्यान नहीं दे रहे हैं। जिला अस्पताल में लगी मशीनें खराब पड़ी हैं। डिजिटल एक्सरे मशीन करीब एक महीने से खराब पड़ी है। वहीं पोर्टेबल मशीन भी लगभग डेढ़ महीने से खराब पड़ी है। इस ओर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा। सिर्फ पुलिस मेडिकोलीगल मैनुअल एक्सरे के माध्यम से किए जा रहे हैं। टेक्नीशियन ने बताया कि मशीन बनवाने के लिए सीएमएस को पत्र लिखा गया, लेकिन इस ओर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा। इंजीनियर आते हैं, देखने सुनने के बाद वापस चले जाते हैं। उधर, मरीजों का कहना है कि एक्सरे मशीन ठीक न होने के कारण उन्हें प्राइवेट एक्सरा करवाना पड़ रहा है। एक्सरे संचालक 400 रुपए से लेकर 500 रुपए तक वसूली करते हैं। इस ओर स्वास्थ्य विभाग के जिम्मेदार ध्यान नहीं दे रहे हैं।

Leave a Reply